पवन ऊर्जा क्या है? पवन ऊर्जा के बारे में पूरी जानकारी | Wind Energy in Hindi

पवन ऊर्जा (Wind Energy) क्या है?

पवन ऊर्जा तथा Wind Energy वह ऊर्जा है जो हम पवन तथा हवा से प्राप्त करते है। पवन ऊर्जा मुख्य रूप से विद्युत ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए प्रयोग किया जाता है। पवन ऊर्जा को बिजली में परिवर्तन करने के लिए पवन टार्बाइन (wind turbine) का प्रयोग किया जाता है। इस काम के लिए ऐसी जगह का होना जरूरी है जहाँ हवा पर्याप्त मात्रा में आती रहती हो और wind turbine बसाने के लिए भी बहुत सारी जमीन की जरूरत होती है। Wind turbine ऐसी जगह लगाना पड़ता है जहाँ चारों तरफ खुला मैदान हो, ताकि हवा बिना रोक टोक के turbine तक पहुंच सके। पवन ऊर्जा को ऊर्जा का एक विकल्प स्रोत माना जाता है। पवन ऊर्जा हमेशा प्रकृति में मौजूद रहता है, चाहे हम इसका इस्तेमाल करें या नहीं और कभी खतम नहीं होता इसलिए इस ऊर्जा को नवीकरणीय ऊर्जा कहा जाता है। यह ऊर्जा प्रदूषण मुक्त है और इसके इस्तेमाल से पर्यावरण का कोई भी नुकसान नहीं होता है।

पवन ऊर्जा से बिजली कैसे उत्पन्न होता है?

जैसे की आपको पता है की पवन ऊर्जा बिजली (Electricity) उत्पादन के लिए व्यवहार किया जाता है और इस ऊर्जा का कोई और खास प्रयोग नहीं है। पवन ऊर्जा बिजली उत्पादन का एक बहुत ही अच्छा स्रोत है और इसलिए USA , चीन और भारत जैसे देश इसपर काम कर रहे है। इस ऊर्जा स्रोत के इस्तेमाल के कई सारे फायदे है जो हम नीचे चर्चा करेंगे, अभी हम जानेंगे पवन ऊर्जा की मदद से विद्युत ऊर्जा कैसे बनाया जाता है।

Wind Energy
www.tuhiranews.com

दोस्तों पवन ऊर्जा को बिजली में परिवर्तन करने के लिए पवन टार्बाइन यानी Wind Turbine और विद्युत जनित्र तथा इलैक्ट्रिक जनरेटर (Electric Generator) का प्रयोग होता है। सबसे पहले तो ऐसी जगह का चुनाव होता है जहाँ हवा की गति ज्यादा हो और वह जगह के चारों तरफ खाली मैदान हो। फिर उस जगह बहुत मात्रा में पवन टार्बाइन (wind turbine) बसाया जाता है। जिन जगह पर काफी मात्रा में पवन टार्बाइन पाया जाता है, उस जगह को विंड फार्म (Wind Farm) तथा विंड पार्क (Wind Park) कहा जाता है।
जब हवा का झोंका पवन टार्बाइन पर टकराता है तब इसके पंखे घूमने लगते है और जिसके कारण टार्बाइन भी घूमने लगता है। उधार टार्बाइन को विद्युत जनित्र (Electric Generator) के साथ ज़ोर दिया जाता है जिससे जब भी टार्बाइन घूरता है तो वह घूर्णन शक्ति विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित हो जाता है। उसके बाद उत्पादित विद्युत शक्ति को बैटरि (battery) में संरक्षित किया जाता है।

पवन ऊर्जा के फायदे:

1. पवन ऊर्जा के प्रयोग से किसी भी तरह का प्रदूषण नहीं होता। ऊर्जा के अलग स्रोतों की तरह यह स्रोत विषाक्त गैस तथा Greenhouse गैस को नहीं छोड़ता है और पवन टार्बाइन बसे हुए जमीन का भी कोई क्षति नहीं होता।
2. यह एक नवीकरणीय स्रोत है और यह स्रोत कभी खतम नहीं होता है। जब तक हमारी धरती में वायुमंडल है, तब तक हम पवन स्रोत का आनंद ले सकते है।
3. पवन ऊर्जा में व्यवहार में आने वाले सामग्री को बनाने में कम समय की दरकार होता है।
4. पवन ऊर्जा मुफ्त है। पवन ऊर्जा प्रकृति में पाया जाता हे और यह बिलकुल मुफ्त है, इसके इस्तेमाल में कोई खर्च नहीं आता है।
5. यह सुरक्षित है। विंड फार्म (Wind Farm) की रेख देख करना बहुत ही आसान है और इस काम में कोई भी खतरा नहीं है।

पवन ऊर्जा के नुकसान:

1. पवन चालित संयंत्र बहुत ही महंगे होते है और हर कोई इन यंत्र को खरीद नहीं सकता।
2. पवन ऊर्जा उत्पन्न होने वाले जगह पर शोर बहुत होता है। टार्बाइन घूरने की वजह से आस पास की जगह पर बहुत शोर होता है।
3. पवन ऊर्जा के इस्तेमाल के कारण पक्षीयों को समस्या हो सकती है। इतनी भरी मात्रा में पवन टार्बाइन देखने पर पक्षी भयभीत हो सकते है।
4. हलांकि पावन ऊर्जा नवीकरणीय स्रोत है लेकिन हर समय इसे इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। इस स्रोत का व्यवहार तभी किया जा सकता है जब हवा तेज़ गति से प्रवाहित होता है।

  • 1
    Share

About the author: TuHira News

www.tuhiranews.com is a Hindi language knowledge and Information website. We cover various topics such as Health, Science, Technology, Economics, Business, Motivational, Biography etc.

2 Comments

Leave a Reply