महात्मा गांधी के जीवन से सीखने योग्य 7 बातें | Teachings of Mahatma Gandhi in Hindi

महात्मा गाँधी को कौन नहीं जानता है, आज के समय में ऐसा कोई नहीं होगा जो बापू को ना जानता हो. महात्मा गांधी ने हमारे देश के लिए क्या क्या नहीं किया उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य से हमें अहिंसा के मार्ग में चलकर हमें आज़ादी दिलाई। उन्होंने हमेशा सत्य का साथ दिया और सही मार्ग में चल के सबको सही रास्ता दिखाया।

महात्मा गांधी के जीवन से सीखने योग्य 7 बातें
www.tuhiranews.com

आज भी उनके जीवन की कहानीयाँ पढ़कर दुनिया में लाखों लोगों को प्रेरणा मिलती हैं। यहाँ इस पोस्ट पर हमने आपके लिए 7 प्रमुख बाते कही हैं (Teachings of Mahatma Gandhi in Hindi) जिनसे हमें सीखना चाहिए।

7 बाते जो महात्मा गांधी से सीखनी चाहिये | Teachings of Mahatma Gandhi in Hindi

1. जो हम सोचते हैं हम वही बन जाते हैं।

गाँधी जी का मानना था कि जैसा हम सोचते हैं हम वही बन जाते हैं अर्थात यदि आप कुछ काम कर रहे हैं या कुछ करने कि सोच रहे हैं और अगर हम पहले ही सोच ले कि हम इस कार्य में असफल हो जायेंगे तो असल जिंदगी में वैसा ही होगा क्योंकि हमारा दिमाग दोनों चीज़ें सोचता हैं सकारात्मक और नकारात्मक तो हमें हमेशा प्रयत्न करना चाहिए कि हम हमेशा सकारात्मक सोचे जिससे हम अपनी मंजिल पा सके।

2. लक्ष्य का रास्ता भी लक्ष्य जैसा सुंदर होता है।

महात्मा गाँधी एक सत्यवादी और नैतिक मार्ग का सहारा लेने वाले आदमी थे। वे ऐसा कोई भी काम नहीं करना चाहते थे जिनसे उनको खुद में ग्लानि हो इसलिए उन्होंने अहिंसा का मार्ग अपनाया और भारत कि आजादी में अपना बहुत बड़ा योगदान देते हुए भारत आज़ाद करवाया वैसे ही हमें भी अपने लक्ष्य को पाने के लिए सही मार्ग में चल के सफल होना चाहिए।

3. शांति आपको अपने अंदर से ही मिलती है, बाहरी वातावरण से नही।

आज के समय में हम लोग शान्तिः को बहार ढूंढ़ते हैं जिन लोगों से हम मिलते हैं जो हमें जैसा बताते हैं हम उसी तरह सोचने लगते हैं और उनकी बातों में चलने लगते हैं और हम कभी अपने अंदर कि आवाज़ सुन नहीं पाते जो कि सबसे जरूरी हैं जैम हम अपनी अंतरात्मा कि आवाज़ सुनेंगे तो हमें कही और जाकर शान्तिः ढूंढ़ने कि जरूरत नहीं होंगी।

4. अगर आप अपनी जिंदगी में परिवर्तन करना चाहते हैं तो अपने आपको बदलें।

आज के समय में हम किसी को भी सलाह देने में बिलकुल भी नहीं सोचते हैं। हम हमेशा दूसरों के अवगुणों को ही देखते हैं हम कभी अपने अंदर उस चीज़ को नहीं देखते हैं यदि हम में कुछ गलत हैं या कुछ गलत करते हैं तो सबसे पहले हमें खुद को सुधारना होगा।

5. ईमानदारी से “ना” कहना बेईमानी से “हाँ” कहने से कहीं बेहतर है।

अकसर लोग दूसरों कि ख़ुशी के लिए हाँ कर देते हैं किसी भी कार्य में भले ही वो अंदर से उस कार्य के लिए हाँ नहीं किये हो लेकिन इससे कुछ ख़ासा नहीं हो पाता यह सिर्फ आपको आक्रोश कि ओर ले जाता हैं।

6. कभी हार न मानो और लगातार प्रयास करते रहो।

और ये हम सभी लोगों के लिए हैं क्योंकि हम सभी किसी न किसी कार्य को करने के लिए हमेशा लगे रहते हैं गाँधी जी का कहना था कि आप कोई भी कार्य कर रहे हो पूरा मन लगा कर उसे करो और तब तक करते रहो जब तक आप उसमे सफल ना हो जाओ।

7. मानसिक शक्ति शारीरिक शक्ति से ज्यादा महत्वपूर्ण है।

गाँधी जी कहना था कि मानसिक शक्ति, शारीरिक शक्ति से कही ज्यादा हैं जिसका उदाहरण वे खुद थे वे शारीरिक शक्ति से तो मजबूत न थे लेकिन मानसिक शक्ति से बहुत थे जिस कारण उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य को भारत से भगा दिया।

तो हमें विश्वास हैं आपको हमारी ये पोस्ट Teachings of Mahatma Gandhi in Hindi अच्छी लगी होगी इसमें यदि आपको कोई भी त्रुटि मिलती हैं या समझ में आती हैं तो कृपया कमेंट करके हमें अवगत करें हम जल्द ही उसे अपडेट करने कि कोशिश करेंगे।

धन्यवाद।


ऑथर: शुभम ठाकुर

साइट: https://gyaaniaatma.com

मेरा नाम शुभम ठाकुर हैं और मुझे हिंदी कंटेंट में लिखना बहुत अच्छा लगता हैं में अपनी साइट में हिंदी हर विषय में लिखता हूँ और कोशिश करता हूँ कि पाठकों को ज्यादा से ज्यादा पोस्टों से मदद मिलें ।

  • 1
    Share

About the author: TuHira News

www.tuhiranews.com is a Hindi language knowledge and Information website. We cover various topics such as Health, Science, Technology, Economics, Business, Motivational, Biography etc.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *